कानपुर में अंधाधुंध फायरिंग में, डीएसपी सहित 8 पुलिस कर्मी शहीद

सत्‍यम् लाइव, 3 जुलाई 2020, दिल्‍ली।। कल कानपुर के बिठुर इलाके में वर्ष 2001 में शिवली थाने के अन्‍दर, भारतीय जनता पार्टी के राज्यमंत्री संतोष शुक्ला की हत्या में नामजद रह चुके हिस्ट्रीशीटर बदमाश विकास दुबे चौबेपुर थाना क्षेत्र के गांव बिकरू का रहने वाला हैंं। उस पर कई आपराधिक मामले दर्ज लगभग 59 मामले दर्ज हैं कल रात्रि शातिर बदमाश विकास दुबे को गुरुवार रात को दबिश देने गयी पुलिस के डीसीपी सहित 8 पुलिस कर्मी शहीद हो गये हैं। विकास दुबे को पकडने गयी पुलिस, पर अचानक फायरिंग होने लगी, उधर अंधेरा हो चुका था जिसमें डीसीपी सहित 8 पुलिस कर्मी की मौत हो गयी है। डीसीपी हितेश चन्‍द्र अवस्‍थी के कथनानुसार 4 पुलिस कर्मी घायल हैं जिनका इलाज चल रहा है। यूपी डीजीपी ने बताया कि हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के खिलाफ धारा 307 के तहत मामला दर्ज था, पुलिस उसे गिरफ्तार करने गई थी। रास्ते में जेसीबी लगा दिया गया जिससे हमारे वाहन बाधित हो गए। जब फोर्स नीचे उतरी तो अपराधियों ने गोलियां चला दीं। जवाबी गोलीबारी हुई लेकिन अपराधी ऊंचाई पर थे, इसलिए हमारे 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए। वर्ष 2001 में शिवली थाने के बाहर दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री संतोष शुक्ला की हत्या में नामजद रह चुके हिस्ट्रीशीटर बदमाश विकास दुबे चौबेपुर थाना क्षेत्र के गांव बिकरू का रहने वाला है। उसपर कई आपराधिक मामले दर्ज हैं और वांछित अपराधी है, जिसकी तलाश पुलिस कर रही थी।

शहीद पुलिसकर्मी

  • क्षेत्राधिकारी बिल्हौर देवेंद्र मिश्रा
  • थाना प्रभारी शिवराजपुर महेश चंद्र यादव
  • चौकी इंचार्ज मंधना अनूप कुमार सिंह
  • सब इंस्पेक्टर नेबू लाल
  • सिपाही सुल्तान सिंह
  • सिपाही राहुल
  • सिपाही बबलू
  • सिपाही जितेंद्र

इस घटना की प्रशांत कुमार सीएम योगी आदित्यनाथ को अपनी रिपोर्ट देंगे। प्रशांत कुमार ने कहा कि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच होगी। अब एसटीएफ के साथ कई टीमें लगी हैं। हत्यारे विकास को खोजा जा रहा है। इसके लिए कानपुर शहर के साथ ही देहात तथा पास के जिलों में लगातार छापा मारा जा रहा है। विकास दुबे का एक साथी हिरासत में है। यहां पर तो सभी बॉर्डर सील करने के साथ हर वाहन की चेकिंग की जा रही है।

Ads Middle of Post
Advertisements
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में 8 पुलिसकर्मियों की शहादत पर दु:ख व्यक्त किया और सख्त कार्रवाई का निर्देश दियेे।
  • लखनऊ से टीम के साथ एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार भी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं, गांव में एसटीएफ की तैनाती कर दी गई है। एडीजी ने पुलिस अफसरों से घटना की पूछताछ करके बदमाशों को पकड़ने के लिए की जा रही कार्रवाई के बाबत पूछताछ की।
  • कानपुर जिले की सभी सीमाएं सील, चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात। कानपुर देहात जिले में पड़ने वाली चार सीमाओं को पूरी तरह सील कर दिया गया है। सख्ती से चेकिंग चल रही है।
  • आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि पुलिस टीम पर हमला करके फरार बदमाशों से दोबारा पुलिस की मुठभेड़ हुई है। घटनास्थल से करीब चार किमी दूर एक जंगल में मुठभेड़ दो बदमाश मारे गए हैं, वहीं दो पुलिस कर्मी भी घायल हुए हैं। उनके कब्जे से हथियार भी बरामद हुए हैं।

आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि बदमाशों की गोली से तीन सब इंस्पेक्टर और चार सिपाही भी शहीद हुए हैं और छह से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। घायल हुए बिठूर थानाध्यक्ष कौशलेंद्र प्रताप सिंह, कांस्टेबल अजय सिंह सेंगर, सिपाही अजय कश्यप, शिव मूरत निषाद थाना चौबेपुर, होमगार्ड जयराम पटेल, एसआई सुधाकर पांडे, एसआई विकास बाबू को रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। विकास दुबे पर वर्ष 2001 में श्रम संविदा बोर्ड के चेयरमैन दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री संतोष शुक्ला की हत्या का आरोप लगा था, जिसमें वह अदालत से बरी हो गया था।

सुनील शुक्‍ल

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.