Trending News
prev next

मानसरोवर पार्क इलाके में स्थित मंदिर के पास ठेका खुलने से क्षेत्रवासियो में आक्रोश |

Anger among the residents due to the opening of the contract near the temple located in Mansarovar Park area.

सत्यम् लाइव, 8 मई 2022, पूर्वी दिल्ली (योगेश कुमार सोनी) : दिल्ली सरकार द्वारा शराब के ठेकों का खुलना लगातार जारी है। बीते रविवार को पूर्वी दिल्ली के मानसरोवर पार्क के मुख्य मार्ग पर ठेका खुलने से क्षेत्रवासियों ने जमकर विरोध किया। क्षेत्रवासियों का कहना है कि यह मानसरोवर पार्क में आने-जाने का सबसे मुख्य मार्ग जिससे हर कोई गुजरता है व यह ठेका मंदिर के बिल्कुल करीब जो सभी नियम-कानून को तांक पर रख कर खोला गया है।

इस मार्ग से नौकरी करने वाले,व्यापारी व विद्यार्थी भी शामिल हैं और यदि कोई भी बच्चा वाइन शॉप से प्रभावित हो गया तो निश्चित तौर इसका प्रयोग करने का प्रयास करेगा जिससे वह बिगड़ जाएग। हजारों की संख्या में पहुंचे लोगों ने केजरीवाल हाय-हाय के नारे लगाए इसके अलावा विधायक व पार्षद से कहा कि यदि यह ठेका बंद नही हुआ तो हम यहां तोड़फोड़ कर देंगे चाहे इसके लिए हमें जेल क्यों न जाना पडे। जनता इतनी आक्रोशित थी मौक पर पुलिस ने मामले को नियंत्रित किया। मौके थानाध्यक्ष प्रशांत यादव ने स्थिति को संभाला।

दिल्ली सरकार बच्चों को स्कूल व अस्पताल देने की बजाय शराब के ठेके लगातार दे रही है। यह मानसरोवर पार्क के मुख्य मार्ग पर हैं और मंदिर के बिल्कुल करीब भी है जो धार्मिक आस्था को चोट पहुंचा रहा है। यहां शराब बिकने से क्राइम तयशुदा रुप से बढ़ेगा ।इसके अलावा एक पर एक बोतल फ्री देकर युवाओं को शराब की लत लगाई जा रही है।

जितेन्द्र महाजन
विधायक- (रोहताश नगर विधान सभा)

यह रोड पूर्णतया कमर्शियल नही हैं, यहां शराब के ठेका खुल सकता है या नही इसकी जांच होगी इसकी अलावा इस बिल्डिंग की भी यह जांच होगी कि निगम द्वारा सभी दस्तावेज पूरे हैं या नहीं। कोई भी त्रुटि होने पर तुरंत प्रभाव के साथ बिल्डिंग को सील कर दिया जाएगा। केजरीवाल की सारी नीति फेल हो चुकी हैं। यदि इस जगह में ठेका संचालित हो गया तो महिला व लड़कियों की सुरक्षा को भी खतरा है।

प्रवेश शर्मा
निगम पार्षद- 37-E, राम नगर

विज्ञापन

satyam live

अन्य ख़बरे

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*


This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.